Saral Hindi Paheliyan

रोज सुबह आता ,
सर्दी मे तुम्हें गर्मी देता,
गीले कपडे सुखाता ,
तो बताओ क्या कहलाता ?

गर्मी मे आता तुम्हारे बड़े काम ,
पानी से हवा ठंडी करता ,
गर्मी से देता तुम्हें आराम ,
तो भैया बताओ मेरा नाम ?

गोल गोल मेरा मिटटी का पेट ,
गर्मी मे आती मेरी याद ,
पेट से मिले तुम्हें ठंडा पानी ,
तो नाम बताओ मेरा जानी ?

जून जुलाई मे पुरे भारत छा जाऊँ,
सबको पानी से भिगोऊँ ,
तो बताओ क्या कहलाऊँ ?

प्रातिक्रिया दे